HOME

Pakistan Economic Crisis: पाकिस्तान में आर्थिक संकट के बीच धन्नासेठों से मिले सेना प्रमुख, कहा- बुरा वक्त जा चुका है

Pakistan Asim Munir: पूरी दुनिया जानती है कि पाकिस्तान में इस समय आर्थिक संकट है और संभव है कि यह देश डिफॉल्ट कर जाए। लेकिन इसके सेना प्रमुख अपने कारोबारियों में उत्साह भरने में लगे है। पाकिस्तानी सेना प्रमुख ने देश के 10 बड़े कारोबारियों के साथ बैठक की। इसमें उन्होंने कहा कि बुरा वक्त जा चुका है।

image source google

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल आसिम मुनीर ने देश के शीर्ष 10 व्यापारियों के साथ एक बैठक में वित्त मंत्री इशाक डार की उपस्थिति में उन्हें आश्वासन दिया कि बुरा समय बीत चुका है, देश ने डिफॉल्ट की संभावना पर काबू पा लिया है और हम एक राष्ट्र के रूप में प्रबल होंगे। द न्यूज की रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। द न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, पाक सेना प्रमुख पूरी बैठक के दौरान आशान्वित दिखे और विश्वास जताया कि मौजूदा आर्थिक मुश्किलें दूर हो जाएंगी।

उन्होंने कारोबारियों से द्दढ़ और आत्मविश्वास से भरे रहने को कहा। एक सूत्र के मुताबिक, सेना प्रमुख ने विभिन्न क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व करने वाले शीर्ष व्यवसायियों से कहा कि दुनिया कठिन समय का सामना कर रही है और हम भी कठिन समय का सामना कर रहे हैं, लेकिन सबसे बुरा समय बीत चुका है और हम प्रबल होंगे। जनरल आसिम ने अपने श्रोताओं को आश्वस्त करने के लिए बार-बार इस्लामी शिक्षाओं का हवाला दिया कि पाकिस्तान वर्तमान परीक्षण समय से सफलतापूर्वक उबर जाएगा।

image source google

व्यवसायियों ने की थी बैठक की मांग

द न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, प्रतिभागियों में से एक, जिन्होंने बैठक में भाग लिया था उन्होंने कहा कि व्यवसायियों ने इस बैठक के लिए सेना प्रमुख से अनुरोध किया था। वित्त मंत्री इशाक डार को सेना प्रमुख ने सत्र में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया था, जिसे व्यवसायियों ने बहुत सफल बताया। व्यवसायियों को सेना प्रमुख और वित्त मंत्री द्वारा बताया गया था कि आईएमएफ की सभी पूर्व शर्तें पूरी हो चुकी हैं और सौदा दिनों के भीतर होने की उम्मीद है।

सेना अपनी भूमिका निभा रही है

बैठक में बताया गया कि आईएमएफ ने कहा है कि देश के विदेशी मुद्रा भंडार को बढ़ावा देने के लिए डॉलर के प्रावधान के लिए मित्र देशों के साथ हुए समझौतों को भी प्रलेखित किया जाना चाहिए। व्यवसायियों ने सेना प्रमुख को बताया कि राष्ट्र को उम्मीद है कि सेना ध्रुवीकरण और अराजकता को और गहरा नहीं होने देगी। सूत्र ने कहा कि सेना प्रमुख ने कहा कि सेना अपनी भूमिका निभा रही है और एकमत बनाने की कोशिश कर रही है। द न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, लाहौर और कराची के पांच-पांच कारोबारियों ने सेना प्रमुख से मुलाकात की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *